जानिए- इन 7 गुणों के कारण बिजनस में सबसे आगे होते हैं मारवाड़ी….

Click on Next Button

यूनाइटेड हिन्दी : विश्व के बिजनस मैदान में मारवाड़ी यानि राजस्थानी काफी सफल होते हैं। इसकी क्या वजह है, इस पर थॉमस ए.टिंबर्ग की एक पुस्तक The Marwaris: From Jagath Seth to the Birlas में बहुत विस्तार से प्रकाश डाला गया है। इस थॉमस ए.टिंबर्ग के मुताबिक मारवाड़ियों (राजस्थानियों) के अंदर 7 गुण पाए जाते हैं, जिसके कारण बिजनस की पिच पर वे ज़्यादातर लम्बी और सफल पारी खेलते हैं। marvaadi

पैसे पर नजर : मारवाड़ी (राजस्थानी) बिजनस फर्म्स और बिजनस ग्रुप दो अहम काम करते हैं। वे पैसे का निवेश ऐसी सोच वाली जगहों पर करते हैं, जो लॉन्ग टर्म में काफी फायदेमंद है। जिन व्यापारों में उनका शेयर होता है, उनकी वित्तीय स्थिति पर गहरी नजर रखते हैं।

कर्मचारियों को कैसे डील करें : एक मारवाड़ी का व्यापार अकेले के बल पर नहीं चलता है, इसके लिए आपको प्रतिनिधि की जरूरत पड़ती है। आपको उन पर विश्वास तो करना पड़ता है लेकिन उन पर नजर रखने की भी जरूरत होती है। आपको यह जानना जरूरी होता है कि किसी मामले में कब दखल देना होता है। कई बार बगैर वजह दखल देना काफी महंगा पड़ जाता है। कोई कर्मचारी अगर असंतुष्ट हो तो उसको हटा देना सही होता है ताकि वह बागी न बन जाए। निष्क्रिय एग्जिक्युटिव्स और परिवार के सदस्यों को उन पोजिशनों पर धकेल देना चाहिए, जो इतनी अहम नहीं है। इन सारे कामों में मारवाड़ी (राजस्थानी) व्यापारी बहुत ही निपुण होते हैं।

योजना : किसी प्रॉजेक्ट या व्यवसाय पर काम करने की योजना बनाते हैं तो उस पर खूब गौर करें। उसके स्टाइल और सिस्टम पर ध्यान दें। सिर्फ योजनाएं बनाएं से काम नहीं चलता है बल्कि उन पर सही तरह से अमल करना जरूरी होता है।

सिस्टम को ग्रोथ रोकने न दें : एक सफल मारवाड़ी बिजनसमैन की अहम खासियत व्यापार की विस्तार मुहिम होती है। कई कंपनियां विस्तार की योजना तो बनाती हैं लेकिन उनको क्रियान्वित नहीं करतीं।

सही कॉर्पोरेट कल्चर : किसी फर्म या ग्रुप का कल्चर बाजार और समय की मांग अनुसार होना चाहिए। मारवाड़ियों की कंपनियों का कॉर्पोरेट कल्चर एंप्लॉयी में वफादारी की भावना पैदा करता है। फाइनैंशल इंसेंटिव्स ही हर बार काफी नहीं होता है। मारवाड़ी व्यापारी को समय के हिसाब से बदलाव या अजस्टमेंट करते रहना चाहिए।

क्रेज पर न जाएं: बाजार का क्या क्रेज है, उस पर ध्यान मत दें क्योंकि अकसर इनकी उम्र छोटी ही होती है। अच्छी तरह गौर करने के बाद ही कोई कदम उठाएं। अगर बाजार के क्रेज के हिसाब से प्रॉडक्ट तैयार करेंगे तो कुछ समय के लिए भले ही फायदा होगा लेकिन लॉन्ग टर्म में नुकसान होगा।

नए डिवेलपमेंट्स को अपनाने से न चूकें : मारवाड़ी को बिजनस में सफलता के लिए समय के साथ चलना बहुत जरूरी है। मौके को अगर गंवा देते हैं तो बिजनस में सफलता के चांस कम हो जाते हैं। समय के साथ हो रहे तकनीकी व अन्य बदलावों को अपनाकर ही आगे बढ़ सकते हैं।

Click on Next Button

To Share it All 🇺🇸🇮🇹🇩🇪NRI Citizens

Leave a Reply

Your email address will not be published.