अंतरिक्ष की दुनिया में बढ़ी भारत की हिस्सेदारी, 104 सेटेलाइट भेज कमाये 100 करोड़

अंतरिक्ष के बाजार में भारत का दबदबा लगातार बढ़ता ही जा रहा है। विश्व में सबसे कम लागत, सस्ते संसाधन से भारतीय स्पेस एजेंसी इसरो, विश्व में सेटेलाइट लॉन्चिंग की सफल गारंटी का केंद्र बन गई है। ताजा उदाहरण बुधवार को PSLV-C37 के जरिये 104 उपग्रहों की एक साथ लॉन्चिंग से भारत ने 100 करोड़ का मुनाफा कमाया।

इसमें 88 उपग्रह अमेरिका की कंपनी प्लेनेटलैब्स के थे। बढ़ती लागत और दुर्घटनाओं की वजह से अमेरीकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा 2011 से ही स्पेस शटलों का प्रयोग बंद कर चुकी है, लेकिन भारत सस्ती लॉन्चिंग के केंद्र के रूप में विश्वभर की असफलता के बावजूद विश्व में सफल हो रहा है। चित्तौड़गढ़ मेवाड़ यूनिवर्सिटी में डिप्टी डायरेक्टर शशांक द्विवेदी के मुताबिक भारत अंतरिक्ष बाजार में उभरती हुई ताकत है।

अगले पृष्ठ पर जाएँ