रावलपिंडी में छिपे हाफिज सईद को पड़ा दिल का दौरा अस्पताल में भर्ती !!

Click on Next Button

hafiz-saeed

अवेर प्रेस – भारतीय सेना की POK में सर्जिकल स्‍ट्राइक में 50 आतंकियों की मौत के बाद से जमात-उद-दावा का चीफ आतंकी हाफिज सईद काफी सदमे में है।

पाकिस्तान के जमात-उद-दावा के मुखिया आतंकी हाफिज सईद को दिल का दौरा पड़ गया है। सूत्रों का  कहना है कि यह दौरा भारत की सेना द्वारा किए गये सर्जिकल स्ट्राइक के कारण हुआ है। ज्ञात हो कि भारतीय सेना ने POK में घुसकर 50 के करीब’ आतंकियों को मार गिराया था। सूत्रों के अनुसार हाफिज की हालत बहुत नाजुक है और उसका इलाज रावलपिंडी के एक अस्पताल में किया जा रहा है। जमात-उद-दावा और पाकिस्तान सरकार ने अभी इसकी पुष्टि नहीं की है।

Read Also → भारतीय मुसलमान का ऐलान, हाफिज सईद का सिर लाओ, 5 करोड़ इनाम पाओ!

हालांकि पाकिस्‍तान सरकार की ओर से अब तक इस बारे में कोई भी आधिकारिक बयान जारी नहीं किया गया है और ना ही जमात-उद-दावा के आफ‍िसियल ट्विटर हैंडल पर इस बात की कोई पुष्टि की गई है। खुद हाफिज सईद का ट्विटर हैंडल भी तीस सितंबर के बाद से अपडेट नहीं हुआ है। यानी कुल मिलाकर इस खबर को लेकर सभी ने चुप्‍पी साध रखी है। हाफिज सईद को फालो करने वाले दूसरे आतंकी संगठन और पाकिस्‍तान के पत्रकार भी चुप हैं।

Read Also → हाफिज सईद ने बरखा दत्त को बताया अच्छा इंसान, बरखा ने दिया जबाब

कश्‍मीर के उरी में हुए आर्मी के बेस कैंप पर आतंकी हमले में भारतीय सेना के 19 जवान शहीद हो गए थे। इन्‍हीं जवानों की शहादत का बदला लेने के लिए Indian Army के स्‍पेशल कमांडोज ने 29 सितंबर की रात में पाकिस्‍तान में घुसकर सर्जिकल स्‍ट्राइक की थी। इस सर्जिकल स्‍ट्राइक में भारतीय कमांडोज ने पाक अधिकृत कश्‍मीर में चल रहे करीब सात आतंकी अड्डों को नेस्‍तनाबूत कर दिया था। जिसमें 50 से ज्‍यादा आतंकियों को भारतीय फौज ने मार गिराया था। ये सर्जिकल स्‍ट्राइक पाक अधिकृत कश्‍मीर के भिंबर, लीपा और केला  में की गई थी। जानकारी के मुताबिक मरने वाले आतंकी इंडियन मुजाहिद्दीन, लश्‍कर-ए-ताइबा और जमात-उद-दावा के अलावा जैश-ए-मोहम्‍मद के थे।

Read Also → कयामत तक साबित नहीं कर पाएगा भारत मेरा गुनाह: हाफिज़

जो उस रात भारत की सीमा में दाखिल होने के लिए लांचिंग पैड पर मौजूद थे। दरअसल पाकिस्‍तान में मुख्‍य रुप से तीन लोग हैं जो अलग-अलग नामों से आतंकी संगठनों को ऑपरेट कर रहे हैं। पहला नाम हाफिज सईद का है। दूसरा नाम सैयद सलाहुद्दीन का है। जबकि तीसरा नाम मसूद अजहर का है। हालांकि इनके अलावा भी कई और आतंकियों के सरगना है लेकिन, सबसे ज्‍यादा भागीदारी इन्‍हीं लोगों की होती है। भारतीय फौज की इस सर्जिकल स्‍ट्राइक में सबसे ज्‍यादा नुकसान इन्‍हीं लोगों को हुआ था। जहां एक ओर पाकिस्‍तानी फौज किसी भी तरह की सर्जिकल स्‍ट्राइक से इनकार कर रही थी। वहीं दूसरी ओर हाफिज सईद ने माना था कि भारतीय फौज के हमले में लोग मारे गए हैं।
बताया जा रहा है कि 29 तारीख से ही जमात-उद-दावा का चीफ काफी परेशान था। उसकी आंखों के सामने पचास से भी ज्‍यादा आतंकियों की लाशें पड़ी थीं। 30 सितंबर को ही हाफिज मारे गए आतंकियों की जनाजे की नमाज में भी शरीक हुआ था। इसी दिन उसने भारत को धमकी भी दी थी कि वो इस सर्जिकल स्‍ट्राइक का बदला जरुर लेगा। तब अमेरिका भी भारत को नहीं बचा पाएगा और भारत की मीडिया सबको हमारी इस सर्जिकल स्‍ट्राइक की तस्‍वीरें दिखाएगी। हालांकि उसके इस आक्रामक तेवरों के बाद खबर आई थी कि पाकिस्‍तानी की खुफिया एजेंसी आईएसआई ने उसे सलाह दी है कि वो अभी कुछ दिनों तक ना सिर्फ शांत रहे बल्कि अंडरग्राउंड भी हो जाए क्‍योंकि मसूद अहजर और सैयद सलाहुद्दीन की तरह वो भी हिंदुस्‍तान की हिटलिस्‍ट में है।

Read Also → ये हैं दुनि‍या की 9 सुपररि‍च मुस्‍लि‍म प्रिंसेस, जानि‍ए कि‍तनी है इनकी नेटवर्थ

Click on Next Button

To Share it All 🇺🇸🇮🇹🇩🇪NRI Citizens

Leave a Reply

Your email address will not be published.