बाबा रामदेव ने बाटा ज़हरीला सामान, पतंजलि का सामान खाकर बीमार पड़े लोग

100 फीसदी शुद्धता का दावा करने वाले बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि द्वारा असम के बाढ़ पीड़ित इलाकों में लोगों को एक्सपाइरी सामान बांटने पर बवाल मच गया है। असम के स्थानीय न्यूज़ चैनल टाइम 8 के मुताबिक मजुली गाँव में पतंजलि के बाढ़ पीड़ितों के लिए 12 लाख रुपये का राहत सामान भेजा है। लेकिन इसे इस्तेमाल करने वाले को लोगों को फायदा कम और नुक्सान ज्यादा हो गया है। क्यूंकि इस सामान में से ज्यादातर सामान डेट एक्सपायर हो चुका है। वहीँ मीडिया में ये खबर भी आई है कि इस सामान को इस्तेमाल करने वाले ज्यादातर लोग बीमार पड़ गए हैं।

इस बात की पुष्टि मजुली जिला शाखा प्रमुख रोहित बरुआ ने मीडिया से करते हुए कहा है कि वहां 30 अगस्त को बाढ़ पीड़ितों को बांटे गए सामान में से 218 लोग बीमार हो चुके है। बांटा गया सामान ज्यादातर तो कबका ही एक्सपायर हो चुका है या ज्यादातर एक्सपायर होने वाला  है। जिनमें दूध पावडर और जूस भी शामिल है। उन्होंने कहा कि शुरुआत में हम लोगों ने यह नोटिस नहीं किया और सारे सामान बाढ़ पीड़ितों में बांट दिए लेकिन जब कुछ युवकों ने इसकी शिकायत जिला आयुक्त से की, तब इस बात का खुलासा हुआ।

loading...

इस सन्दर्भ में यूट्यूब पर टाइम 8 के वीडियो में दिख रहा है कि जिन सामानों पर एक्सपायरी डेट अक्टूबर 2016 लिखा है, उसे भी बाढ़ पीड़ितों के बीच बांट दिया गया।

अगले पृष्ठ पर जाएँ

loading...