पाकिस्तान ने कहा: अब कश्मीर हमारे लिए केवल मुद्दा नहीं मिशन है!

Click on Next Button

jk-missino

यॉर्क। उरी हमले के बाद पाक को अलग-थलग करने की भारत की मुहिम के बीच नापाक ने एक बार फिर कश्मीर मुद्दे को उठाया है। इस बार पाकिस्तान ने कहा कि कश्मीर हमारे लिए मुद्दा नहीं बल्कि एक मिशन है। यूनाइडेट नेशंस में पाकिस्तान की प्रतिनिधि डॉ. मलीहा लोधी ने प्रेसवार्ता में कश्मीर का मुद्दा उठाया। इतना ही नहीं लोधी ने US की उस सलाह को मानने से भी इनकार कर दिया, जिसमें कहा गया था कि पाकिस्तान अपने परमाणु कार्यक्रमों पर रोक लगाए।

इस दौरान मलीहा ने परमाणु कार्यक्रमों को लेकर अपनी ताकत भी दिखाई। उन्होंने साफ कहा कि US विदेश मंत्री जॉन कैरी जिस तरह से पाक से उम्मीद कर रहे हैं, उन्हें ऐसी ही उम्मीद INDIA से भी करनी चाहिए। बता दें कि अमरीकी विदेश मंत्री जॉन केरी ने पाक के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से कहा था कि इस्लामाबाद हरहाल में आतंकवादियों को पनाह देना बंद कर दे। केरी ने Monday को शरीफ के साथ मुलाकात के दौरान इस बात को दोहराया कि पाक को सभी आतंकवादियों को पाकिस्तानी धरती को एक सुरक्षित पनाहगाह के रूप में इस्तेमाल करने से रोकने की जरूरत है। किर्बी ने कहा कि प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और विदेशमंत्री केरी ने कश्मीर में, खासतौर से सैन्य शिविर पर, हाल की हिंसा पर गंभीर चिंता जाहिर की और तनाव घटाने की जरूरत पर जोर दिया। किर्बी ने कहा कि केरी ने परमाणु हथियार कार्यक्रमों में संयम बरतने की जरूरत पर भी जोर दिया।

उधर, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ बुधवार रात को संयुक्त राष्ट्र में भाषण देंगे। सूत्रों के अनुसार शरीफ कश्मीर के मुद्दे को उठाकर भारत को घेरने की कोशिश करेंगे। इससे पहले नवाज ने अमरीका के आगे मदद के लिए हाथ फैलाए थे, लेकिन ओबामा ने कश्मीर और उरी हमले पर बात करने से इनकार कर दिया था। उन्होंने अपने भाषण में पाकिस्तान का नाम लिए बगैर कहा कि जो देश परोक्ष युद्ध में लगे हैं उन्हें इसे बंद करना होगा। उरी घटना के बाद ओबामा के नवाज से न मिलने के लिए मना कर दिया है।

रूस, फ्रांस और ब्रिटेन समेत चीन भी हुआ तल्ख

रूस, फ्रांस और ब्रिटेन समेत दुनिया के तमाम देशों ने उरी हमले की कड़ी आलोचना की है। यहां तक कि पाकिस्तान के सरपरस्त चीन को भी आतंकवाद के खिलाफ बयान देना पड़ा है। ऐसे माहौल में उरी के आतंकी हमले पर नवाज की बेशर्म खामोशी शराफ त का चोला अब तार-तार होगा। उधर, संयुक्त राष्ट्र के मंच पर भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज भी होंगी, जो पाकिस्तान की शराफत का पर्दाफाश करेंगी। भारत की दलीलें पाकिस्तान को सच्चाई का आईना दिखाएंगी।

Click on Next Button

Post को Share जरूर करे !

Leave a Reply

Your email address will not be published.