पाकिस्तान की नीचता में 3 जवान शहीद, एक सैनिक का सिर काटकर ले गए आतंकी

Prev1 of 2Next
Click on Next Button

jammu

नई दिल्ली : नियंत्रण रेखा पर एक बार फिर पाकिस्तान की नीचता व कायराना हरकत सामने आई है। जम्मू-कश्मीर के माछिल में पाकिस्तानी गोलीबारी में तीन भारतीय जवान शहीद हो गए। आतंकियों ने एक भारतीय जवान के शव के साथ बुरी तरह बर्बरता भी की। इससे पहले भी बीते महीने में कई बार पाकिस्तान की ओर से जम्मू कश्मीर में सीमा पार से गोलीबारी की गई है।

ऐसा पहली बार नहीं हुआ है, जब पाकिस्तानी घुसपैठियों ने भारतीय सेना के शहीद जवान का शव क्षत-विक्षत किया है: सन् 1999 में कारगिल युद्ध के दौरान, 4 जाट रेजिमेंट के कैप्टन सौरभ कालिया तथा सिपाही अर्जुनराम बासवाना, मूला राम बिदियासर, नरेश सिंह सिनसिनवार, भंवर लाल बागड़िया तथा भीखा राम मुध को पाकिस्तानी सैनिकों ने जिंदा पकड़ लिया था और उनके साथ यातनाओं की इंतेहा कर दी थी। इन सैनिकों के कानों के पर्दे में गरम लोहे की छड़ से छेद कर दिया गया था, आंखें फोड़ दी गई थी और यौन अंगों को काट दिया गया था। शवों के अंत्यपरीक्षण में यह खुलासा हुआ था कि उनके शरीर को जलते सिगरेट से दागा भी गया था। उनके पैर काट दिए गए थे, दांत तोड़ दिए गए थे और सिर की हड्डियों को तोड़ दिया गया था। यहां तक कि उनके नाक व होंठ तक काट दिए गए थे।

पाकिस्तानी सेना ने आठ जनवरी, 2013 को सीमा के कृष्णा घाटी सेक्टर में भारतीय क्षेत्र में दाखिल होकर दो भारतीय सैनिकों लांसनायाक हेमराज तथा लांसनायक सुधाकर सिंह को मार डाला था। भारतीय अधिकारियों ने कहा था कि दोनों के शवों को क्षत-विक्षत कर दिया गया था और शहीद हेमराज का सिर काट दिया गया था।

भारतीय सेना को जानकारी मिली थी कि घुसपैठ हो सकती है। इसी दौरान जब तीन जवान पेट्रोलिंग पर जा रहे थे तो घात लगाए आतंकियों ने उन पर हमला किया। इस दौरान वे एक सैनिक का सिर काटकर अपने साथ ले गए। यह जवान राष्ट्रीय राइफल्स का था। इसके बाद उस जगह पर दोनों ओर से फायरिंग हो रही है।

अक्टूबर में भी पाकिस्तान ने किया था ऐसा
अक्टूबर 2016 में भी एलओसी के पास माछिल में आतंकियों ने सेना के जवान पर फायरिंग की थी। हमले में सेना का जवान शहीद हो गया था। पाकिस्तानी आतंकियों ने शहीद जवान के शव के साथ भी बर्बरता की और उसे क्षत-विक्षत कर दिया था। इस कार्रवाई में पाकिस्तानी सेना के बॉर्डर एक्शन टीम का हाथ माना गया था। भारतीय सेना ने पाकिस्तान की इस बर्बरता का बदला लेने की बात कही थी। सेना ने पीएम मोदी और रक्षामंत्री को हमले की जानकारी दी थी। विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान के उच्चायुक्त को तलब किया था।

माछिल में लाइन ऑफ कंट्रोलल (LoC) पर शहीद हुए जवान प्रभु सिंह के पिता चंद सिंह ने कहा कि भारत को इसका सख्त जवाब देना चाहिए। उन्होंने कहा कि मैंने अपना इकलौता बेटा खोया है। उन लोगों को सबक सिखाने के लिए मैं फिर से आर्मी ज्वाइन करना चाहूंगा। बता दें कि कुपवाड़ा के माछिल सेक्टर में पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम (बैट) ने भारतीय गश्ती दल पर घात लगाकर हमला किया। इसमें तीन जवान शहीद हो गए। प्रभु सिंह का शव क्षत-विक्षत कर दिया था। उधर, भिम्बर गली, कृष्णा घाटी और नौशेरा सेक्टर में पाकिस्तान ने फिर फायरिंग की है। इंडियन आर्मी इसका जवाब दे रही है।

Prev1 of 2Next
Click on Next Button

To Share it All 🇺🇸🇮🇹🇩🇪NRI Citizens