कई बिमारियों की मात्र एक रामबाण दवा लहसुन, कली मिर्च और लॉन्ग !!

7-bimaari-ka

 

लहसुन एक ऐसा मसाला या खाद्द सामग्री है जो हर भारतीय रसोईघर में आसानी से मिल जायेगा। लेकिन यह छोटा-सा लहसुन का फाँक सिर्फ खाने का जायका ही नहीं बढ़ाता है साथ ही इसके बहुत सारे औषधिय गुण भी हैं। यहाँ हम आपको लहसुन के कुछ स्वास्थ्य संबंधी गुणों के बारे में चर्चा करने जा रहे हैं, जिसके बारे में शायद ही सब लोगों को पता हो-

लहसुन के विशिष्टता के कारण-
• इसमें सल्फर यौगिक प्रचुर मात्रा में होने के कारण इसका स्वाद कड़वा होता है।
• एलीसीन यौगिक होने के कारण यह anti-bacterial, एन्टी-वायरल, एन्टी-फंगल और एन्टी-ऑक्सिडेंट गुण वाला होता है। इसलिए इसको काटकर, पीसकर या प्यूअरे बनाकर खाना अच्छा होता है।
• लहसुन में selenium प्रचुर मात्रा में होता है।
• एलीसीन के साथ ajoene और allein आदि यौगिक भी होते हैं जो लहसुन को और भी औषधिय रूप से प्रभावकारी बना देते हैं।

1. बैक्टिरीअल और वायरल संक्रमण को दूर करता है
इन यौगिकों के कारण लहसुन बैक्टिरीअल और वायरल संक्रमण को रोकने में बहुत मदद करता है। यह फंगस, यीस्ट और कीड़ा से इन्फेक्शन को रोकने में मदद करता है।

2. त्वचा के संक्रमण को ठीक करता है
लहसुन का एन्टीबैक्टिरीअल और एन्टीवायरल गुण त्वचा के संक्रमण से रक्षा करता है। इसमें जो एजोइन यौगिक होता है वह रींगवार्म से होने वाले फंगल इन्फेक्शन को रोकता है।

टिप: अगर आपको त्वचा पर कोई इन्फेक्शन हुआ है तो लहसुन को पीसकर उस जगह में लगाकर कुछ देर रखने के बाद पानी से धो लें।

3. रक्त का थक्का (blood clot)बनने में सहायता करता है
एजोइन यौगिक रक्त का थक्का बनाने में मदद करता है। जिनको हृदय संबंधी बीमारी होती हैं और रक्त का थक्का बनने में देर होता है उनके लिए यह राम बाण का काम करता है।

टिप- रोज सुबह खाली पेट लहसुन का एक फाँक खाना स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है।

4. ब्लड-प्रेशर को नियंत्रित करता है
एलीसीन यौगिक रक्त चाप को कम करने में बहुत मदद करता है।

टिप- ब्लड-प्रेशर को कम करने के लिए रोज खाने में लहसुन को शामिल करें। या कच्चा लहसुन का फाँक भी खा सकते हैं।

5. दिल को स्वस्थ रखता है
धमनी कभी-कभी अपना लचीलापन खो देते हैं तब लहसुन उसको लचीला बनाने में बहत मदद करता है। फ्री ऑक्सिजन रैडिकल्स से हृदय की रक्षा करने में भी मदद करते हैं। सल्फर यौगिक रक्त-कोशिकाओं (blood vessels )को बंद होने से बचाता है।

6. कोलेस्ट्रोल के स्तर को कम करता है
लहुसन का एलिसिन रक्त के ट्राइग्लिसराइड को कम करने में मदद करता है, जो कोलस्ट्रोल को कम करने में सहायता करता है। यह धमनियों के प्लैक (plaque) के उत्पादन को भी कम करता है।

7. एलर्जी से लड़ता है
इसका एन्टी-आर्थ्रिटिक गुण एलर्जी से लड़ने में मदद करता है।

टिप- लहसुन का रस रैशेज और बग बाइट्स के खुजलाहट को कम करने में मदद करते हैं।

8. गले का दर्द और ज़ुकाम से बचाने में मदद करता है
रोजाना खाने से बार-बार ज़ुकाम नहीं होता है। इसका एन्टीबैक्टिरीअल गुण गले के दर्द से राहत दिलाता है। बहुत दिनों के ब्रोंकाइटिस से भी राहत दिलाने में मदद करता है।

9. ब्लड शुगर को नियंत्रित करता है
लहसुन खाने से शरीर में इन्सुलिन के स्तर को बढ़ाने के साथ-साथ ब्लड-शगुर को नियंत्रित करने में मदद करता है। आप मधुमेह (diabetic) रोगी हो तब भी यह काम करता है।

10. कैंसर से बचने में मदद करता है
एलियल सल्फाइड (allyl sulphides) एन्टी-कैंसर का काम करता है।

11. सेक्स लाइफ को उन्नत करने में मदद करता है
लहुसन काम के उत्तेजना को बढ़ाने में मदद करता है, क्योंकि यह शरीर में रक्त के संचार लहसुन उन्नत करता है।

12. दाँत के दर्द से राहत दिलाता है
इसका एन्टीबैक्टिरीअल और दर्दनिवारक गुण दाँत के दर्द से राहत दिलाता है।

टिप- लहसुन का फाँक पीसकर दाँत के दर्द के जगह पर लगा दें।

Next पृष्ठ पर > जानिए लौंग के 10 बेजोड़ गुण

Prev1 of 3Next
Click on Next Button

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *