बीजेपी की और से राम मंदिर विवाद को लेकर कोर्ट में पक्ष रख रहे इस महंत को लेकर आई बड़ी खबर !

अंकित तिवारी, (यूनाइटेड हिन्दी) : बाबरी मस्जिद को लेकर चल रहे विवादों में एक नई खबर आई है। इस मामले में एक पक्षकार की मौत हो गयी है। इसके पहले मुस्लिमों की तरफ से मुख्य पैरोकार हासिम अंशारी का इंतकाल हो गया था लेकिन अब एक महंत का निधन हुआ है। बता दें कि विवादित ढांचे को लेकर मामला सुप्रीम कोर्ट में है और ये कई सालों से लंबित मामला है। लेकिन जिस तरीके से पक्षकारों का निधन होता जा रहा है और कोई फैसला सामने नही आ रहा है उससे लोगों में निराशा आ रही है।

loading...

बता दें कि राम जन्मभूमि के पक्षकार ब्राहमण महंत भास्कर दास का निधन हो गया है। उनकी उम्र 88 साल थी। बता दें कि भास्कर दास बीमार चल रहे थे फैजाबाद के हर्षण हृदय संस्थान में उनका इलाज चल रहा था। शनिवार तड़के साढ़े 3 बजे उनकी मृत्यु हो गयी। बता दें कि विवादित ढांचे में पक्षकार रहने वाले भास्कर दास निर्मोही अखाड़ा के महंत भी रहे थे।

इस मामले में सबसे बुजुर्ग पैरोकार मोहम्मद हाशिम अंसारी का भी इंतकाल हो चुका है। उनकी मृत्यु एक साल पहले यानी 2016 में हुई थी। उन्हें हृदय संबंधी बीमारी थी। अंसारी दिसंबर 1949 से बाबरी मस्जिद विवाद से जुड़े थे। वह सुन्नी केंद्रीय वक्फ बोर्ड द्वारा फैजाबाद दीवानी अदालत में दायर ‘अयोध्या मामले के मुकदमे’ में 1961 में कुछ अन्य लोगों के साथ प्रमुख वादी बने थे।

अगले पृष्ठ पर जाएँ

loading...