हीरो को विलेन बनाने की साजिशें नाकाम, डॉ. कफील पर लगे आरोप गलत साबित, सैकड़ों मासूमों की दुआएँ लगीं

गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में बच्चों की जान बचाने वालें डॉ. कफील अहमद खान को बदनाम करने की कोशिश नाकाम हो गई है। गोरखपुर पुलिस ने डॉक्टर कफील जिनपर करप्शन से लेकर प्राइवेट अस्पताल चलाने तक के आरोप लगाये गए उसे जांच में गलत बता दिया है।

बीआरडी मेडिकल में जब मासूमों की जान खतरें में आई तो डॉ कफील ही वो शख्स थे जिन्होंने ऑक्सीजन सिलेंडर के इंतजाम कर कई बच्चों की जान बचाई थी। आखिर में उन्हें ही 9 बच्चों की मौत का आरोपी बना दिया गया था।

अपने पैसों से सैकड़ों मासूमों की जान बचाने वाले डॉ. कफील के खिलाफ हुई साजिशें नाकाम, पुलिस जांच में सारे आरोप गलत साबित हुए… 

अब जब मामलें की जांच हुई तो जाँच कर रहे अभिषेक सिंह ने कहा कि, ऐसा कोई सुबूत मिलता नहीं जिससे उनपर लगाये गए इल्जाम को सही ठहरा जा सके इसलिए उनके खिलाफ कोई मामला बनता ही नहीं है।

गौरतलब है की इस साल अगस्त महीने में गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में करीब 48 बच्चों की मौत हो गई थी। जिसे लेकर योगी सरकार की जमकर आलोचना हुई थी।