भोपाल पुलिस ने फरार हुए 8 आतंकियों को उतारा मौत के घाट, यूनाइटेड हिन्दी पर जानिए पूरा विवरण!

madhya-pradesh

भोपाल (यूनाइटेड हिन्दी) :- रविवार सुबह खबर आई कि प्रतिबंधित स्टूडेंट्स इस्लामिक मूवमेंट ऑफ इंडिया के 8 खतरनाक आतंकी भोपाल सेन्ट्रल जेल से फरार हो गये हैं। जिसके बाद से पूरे देश में हड़कंप मच गयी थी और मध्यप्रदेश में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया था। भोपाल सेंट्रल जेल से भागने से पहले इन आतंकवादियों ने जेल में ही एक कांस्टेबल की निर्मम हत्या कर दी थी। इन 8 आतंकियों को फरार हुए महज 8 घंटे ही हुए थे, कि तभी इन सभी के एनकाउंटर की खबर आई। बताया जा रहा है इस एनकाउंटर को भोपाल पुलिस और एसटीएफ ने मिलकर अंजाम दिया है। ये सभी आतंकी सिमी के थे और काफी दिनों से भागने की फ़िराक में थे व देश में बड़े दंगों को अंजाम देने वाले थे। हालाँकि इन्हें फरार हुए ज्यादा देर नही हुए थे कि पुलिस ने इनका एनकाउंटर कर दिया, हालाँकि जब ये सभी आतंकी पुलिस से घिर गये तो उन्हें सरेंडर करने को कहा गया था। जेल से फरार होने के बाद जेल अधीक्षक सहित 4 अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया गया है और जाँच के आदेश दिए गये हैं।

स्टूडेंट्स इस्लामिक मूवमेंट ऑफ इंडिया यानी सिमी का गठन 1977 में उत्तर प्रदेश के अलीगढ में हुआ था। इसके संस्थापक प्रेसिडेंट मोहम्मद अहमदुल्ला सिद्दिकी यूएस की वेस्टर्न इलिनोइस यूनिवर्सिटी में जर्नलिज्म और पब्लिक रिलेशंस के प्रोफेसर रहे हैं। हालाँकि सिद्दीकी का कहना है कि अब इस संगठन से उनका कोई लेना-देना नही है क्योंकि अब इस संगठन पर उग्र लोगों का कब्ज़ा हो गया है। इस संगठन का मकसद सम्पूर्ण भारत को मुस्लिम राष्ट्र बनाना है। इसकी उग्र विचारधारा, कट्टरता और देश विरोधी नीतियों के कारण ही इस संगठन पर प्रतिबंध लगाया गया जा चुका है। अमेरिका में हुए 9/11 हमले के बाद इस संगठन पर पोटा के अंतर्गत प्रतिबंध लगाया गया था। जिसके बाद कॉंग्रेस सरकार ने पोटा कानून समाप्त कर दिया था लेकिन सिमी पर प्रतिबंध आज भी बरक़रार है। सिमी के महासचिव सफदर नागोरी इन दिनों इस संगठन का मुखिया है और प्रतिबंध लगाने के बाद से उसे दिल्ली से गिरफ्तार किया गया था और अभी भी जेल में बंद है । सफ़दर नागोरी पर उत्तर प्रदेश में सांप्रदायिक दंगे कराने का आरोप हैं। पुलिस का मानना है कि इन दिनों सिमी के लोग छिपकर अपनी गतिविधियों को अंजाम देने में लगे हैं।

Click on Next Button For Next Slide

Prev1 of 3Next
अगले पृष्ठ पर जाएँ

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published.