केरल में हिन्दू आस्था का अंतिम सशक्त केन्द्र अब इस्लामी व इसाईओं के निशाने पर….

ब्लॉग : (केशर देवी) सबरीमाला : केरल में बचा रह गया हिन्दू आस्था का अंतिम सशक्त केन्द्र क़ौमी-इस्लामी-इसाई दुरभिसन्धि के

पूरी खबर पढ़ें

क्या है पंचाग, जानें किस अंग्रेजी माह के साथ होता है कौन सा हिंदू महीना

हिंदू पंचांग हिंदू धर्म के लोगों द्वारा माना जाने वाला कैलेंडर है। पंचांग का अर्थ है, पांच अंग। ये पांच

पूरी खबर पढ़ें

सबसे पहले इन्होंने किया था मृत्युंजय मंत्र का जप, जानें इतिहास के अनोखे बच्चों के बारे में

कहते हैं बच्चे साक्षात ईश्वर का स्वरूप होते हैं, क्योंकि उनके मन में किसी के लिए भी बुरे विचार नहीं

पूरी खबर पढ़ें

कम्युनिस्ट इंशा अल्लाह क्यों बोलता है, मुझे उम्मीद है ये पोस्ट पढ़कर अब तक आपको समझ में आ गया होगा!

ब्लॉग : शरद श्रीवास्तव –  धर्म जनता के लिए अफीम है। ये मार्क्सवाद का मूलभूत सिद्धान्त है। लेकिन ये कभी

पूरी खबर पढ़ें

जानिए हिंदू धर्म में क्यों नहीं होता है एक ही गोत्र में विवाह? जानिए, धार्मिक और वैज्ञानिक कारण…

भारत में अंतर्जातीय विवाह का विरोध हमेशा से होता आया है। लेकिन कभी कभी सजातीय विवाह का भी विरोध होता

पूरी खबर पढ़ें

ब्लॉग : हे प्रभु, इन्हें क्षमा मत कर देना क्योंकि इन्हें पता है कि ये असत्य प्रचार कर रहें हैं…

ब्लॉग : अभिजीत सिंह (यूनाइटेड हिन्दी) – न्यू टेस्टामेंट (यानि बाईबिल का उत्तर भाग) खोल कर देखिये कि वहां मसीह

पूरी खबर पढ़ें

मस्जिद के इमाम जो बन गये एक वैदिक, वर्षों से कर रहा है हिन्दू धर्म का प्रचार

हिन्दू धर्म दुनिया का सबसे पुराना धर्म है। यहां लगभग सभी धर्मों के लोग रहते हैं। लेकिन लेकिन हिन्दू धर्म

पूरी खबर पढ़ें

जानिये भगवान राम की बड़ी बहन के बारे में जिन्हें समय के साथ भुला दिया गया

विश्वभर में करीब 300 से ज्यादा प्रकार की व्यखाया की गई रामायण प्रचलित है। इनमें भगवान श्री राम से जुड़ी

पूरी खबर पढ़ें

क्रिसमस ट्री के नीचे बल्ब जलाकर बेबकूफ कहलाने के बजाये तुलसी के नीचे दीपक जलाकर वैज्ञानिक सोच वाला बनिए

ब्लॉग : अभिजीत सिंह (यूनाइटेड हिन्दी) – कहतें हैं कि जब ईसा मसीह को यहूदी धर्मगुरुओं ने पिलातुस के सामने उपस्थित

पूरी खबर पढ़ें

क्या महापुरुषों, संस्थापकों, पीर, पैगम्बरों द्वारा बनाये गए धर्म कभी सनातन धर्म होते हैं?

ब्लॉग: मुदित (यूनाइटेड हिन्दी) – संसार के सभी मत अपने आपको सनातन बताते हैं, मतलब प्राचीन और अनादिकाल से चलता

पूरी खबर पढ़ें