ब्लॉग: अगर यही आपका राष्ट्रवाद है तो माफ़ कीजिये यह राष्ट्रवाद नहीं बल्कि अतिवादी उन्माद है!

Prev1 of 2Next
Click on Next Button

nationalism

ब्लॉग : विश्वजीत कुमार झा

 (यूनाइटेड हिन्दी) – सबसे पहले तो यह बताना उचित होगा कि माननीय सर्वोच्च न्यायपालिका ने NDTV के मामले में बेन के फैसले को लंबित किया है। इसका मतलब यह है कि सुप्रीम कोर्ट ने चेनल की याचिका स्वीकार की है और फैसला सुनाने को तैयार हुयी है! ना तो सरकार के बेन को रद्द किया है ना ही NDTV के हक में फैसला दिया है, फैसला आना अभी बाकी है।

बाकी फैसला जो भी होगा वह स्वागत योग्य है, यह ना तो एक पक्ष की जीत है ना ही दूसरे पक्ष की हार है। रही बात आपके सोच की तो बेन लगाने के पक्ष में या विरोध में होना आपकी निजी राय है। एक लोकतांत्रिक सरकार के कार्यों के पक्ष में या विरोध में होना आपका अधिकार है जो आपसे कोई छीन नहीं सकता है। हाँ!!! केवल समर्थन या केवल विरोध आपकी मानसिकता पर प्रश्नचिह्न लगाता है और माहौल को उन्मादी बनाता है।

आप एक नागरिक होने के नाते गलत नियमों व् कानूनों का विरोध कर सकते हैं। सरकार को यह अधिकार है कि वह मामले पर विधेयक लाकर क़ानून को बदले या उसमें संशोधन भी करे। लेकिन किसी भी स्थिति में सर्वोच्च न्यायपालिका के फैसले का विरोध मुझे स्वीकार्य नहीं, क्योंकि आपकी राय संविधान व् क़ानून के ऊपर नहीं हो सकती।

क्या आप भी उन लोगों के स्तर पर जा खड़े हो सकते हैं जो अफजल और याकूब के फांसी के विरोध में न्यायपालिका के फैसले के विरोध में खड़े हो जाते हैं ? बाकी!! इस सरकार ने अभी तक ऐसा कुछ नहीं किया कि शाहबानो फैसले के विरोध में विधेयक लाकर एक वृद्धा का हक छीन सके।

संयमित होकर राय बनाना ही आपकी खूबसूरती है। यही आपकी सोच का भी परिचायक है। बाकी उरी अटेक होते ही सरकार को दम भर गरियाना और सर्जिकल स्ट्राइक होते ही पटाखे फोड़ना आपकी वैचारिक स्खलन का परिचायक है।

फैसला चाहे पक्ष में हो या विरोध में? हमें उसे सम्मानपूर्वक स्वीकार करना चाहिये! किसी भी स्थिति में न्यायपालिका के फैसले का विरोध राष्ट्रविरोधी होगा।

बेन के फैसले पे सरकार का समर्थन करना आपकी अपनी राय है लेकिन अगर बेन हटता है तो सरकार को गरियाना और न्यायपालिका के फैसले का विरोध बिलकुल गलत होगा। अगर यही आपका राष्ट्रवाद है तो माफ़ कीजिये यह राष्ट्रवाद नहीं बल्कि अतिवादी उन्माद है। यह राष्ट्र को सम्पुष्ट नहीं बनायेगा बल्कि उसे कमजोर ही करेगा।

आगे की स्लाइड में पढ़े – यूनाइटेड हिन्दी के राष्ट्रवाद का अर्थ 

Prev1 of 2Next
Click on Next Button

To Share it All 🇺🇸🇮🇹🇩🇪NRI Citizens

Leave a Reply

Your email address will not be published.