पढिए- इस्लामाबाद पर हमला कर 40 मिनट में भारत लौट आएगा राफेल

Prev1 of 2Next
Click on Next Button

rafale-fighter

तकनीकी डेस्क : कश्मीर के उड़ी में इंडियन आर्मी के हेडक्वाटर पर आतंकी हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच बढ़े तनाव के बीच भारत सरकार ने फ्रांस के साथ राफेल लड़ाकू विमान की खरीद के सौदे को मंजूरी दे दी है। दोनों देशों के बीच राफेल सौदे पर शुक्रवार को हस्ताक्षर होंगे। इस सौदे के तहत इंडिया फ्रांस से 36 राफेल विमान 59 हजार करोड़ रुपये कीमत पर खरीदेगा। इस खरीद सौदे पर हस्ताक्षर करने के लिए शुक्रवार को  फ्रांस के विदेश मंत्री ज्यां यीव ली ड्रियान भारत की राजधानी दिल्ली में उपस्थित रहेंगे।

फ्रांस के साथ राफेल विमानों का सौदा पहली बार 2012 में कॉंग्रेस के कार्यकाल में हुआ था, लेकिन कीमत ज्यादा होने की वजह से डील नहीं हो पाई थी। 126 विमानों की उस डील को वर्तमान मोदी सरकार ने टेंडरिंग में घपले के आरोपों के चलते रद्द कर दिया था। इसके बाद 36 राफेल विमानों को खरीदने का एलान हुआ, लेकिन कीमतों को लेकर पेंच फंसा रहा। हालांकि अब विपक्ष का गतिरोध खत्म होता दिख रहा है।

राफेल एक फ्रेंच शब्द है, जिसका मतलब होता है तूफान। यह लड़ाकू विमान दुश्मन को मिनटों में खाक कर देता है। राफेल में हवा से हवा में मारने वाली 6 मिसाइलें लगाई जा सकती हैं। राफेल का निशाना इतना अचूक है कि ये 55 हजार फीट की ऊंचाई से भी पूरी एक्यूरेसी के साथ बम गिरा सकता है। राफेल जब हथियारों से लैस होकर दुश्मन की ओर बढ़ेगा तो हिंदुस्तान की ताकत दोगुनी हो जाएगी। दुश्मनों के बीच खौफ के दूसरे नाम राफेल को ऊंचाई वाले इलाकों में लड़ने में महारत हासिल है। आँख झपकते ही हिमालय की ऊंची चोटियों के बीच छिपे दुश्मन को ये खत्म कर देगा।

Next स्लाइड पर जानिए राफेल की पूरी जानकारी 

Prev1 of 2Next
Click on Next Button

Post को Share जरूर करे !

Leave a Reply

Your email address will not be published.